अर्थ जगत राजनीति

सरकार की दूसरी पारी का पहला 3 तौफा

मोदी सरकार के दुसरे कार्यकाल के गठन के बाद बहुत से काम किए जा रहे है… नई पुरानी योजनाओं पर काम भी किया जा रहा है.. वहीं इस दुसरे कार्यकाल के सातवें दिन मोदी सरकार ने रीजेर्व बैंक के साथ बैठक कि और आम लोगों को 3 बड़े तौफे दिए…. वहीँ 1 बड़ा झटका भी दिया है…

30 मई को मोदी सरकार ने औपचारिक रूप से देश का एक बार फिर कार्यभार संभाला…. उसी के साथ मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने पहला बड़ा तोहफा दिया है… दरअसल, आरबीआई की ओर से एक बार फिर रेपो रेट में कटौती की गई है…. आरबीआई की मौद्रिक समीक्षा बैठक में 0.25 फीसदी की कटौती हुई है….. इसी के साथ अब नई रेपो रेट 5.75% हो गई है….. नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली सरकार के दूसरे कार्यकाल में यह पहली Monetary
समीक्षा बैठक थी….

आपको बता दें कि RBI ने रेपो रेट में 0.25 फीसदी की कटौती की है इसमें कटौती होने से बैंक सस्ती दर पर नए लोन देंगे और आपकी होम या ऑटो लोन की ईएमआई पहले के मुकाबले कम हो जाएगी… अगर आपने 30 लाख रुपये का होम लोन लिया हुआ है….. वहीं, इसकी अवधि 20 साल है…. मौजूदा दर 8.60 फीसदी के हिसाब से आपकी EMI 26,225 रुपये बैठती है….. अब बैंक भी आरबीआई के बाद 0.25 फीसदी दरें घटाने का फैसला लेता है तो नई ब्याज दर 8.35 हो जाएगी. अब आपकी नई EMI 25,751 रुपये होगी. इस तरह से आप हर महीने 474 रुपये की बचत कर पाएंगे…..

इसके अलावा ऑनलाइन ट्रांजेक्‍शन करने वालों को भी आरबीआई की बैठक से खुशखबरी मिली है…. दरअसल, रिजर्व बैंक ने RTGS और NEFT लेनदेन पर लगाए गए शुल्क को हटा दिया है…. इसका मतलब यह हुआ कि अब RTGS और NEFT के जरिए ट्रांजेक्‍शन करने वाले लोगों को किसी भी तरह का एक्‍स्‍ट्रा चार्ज नहीं देना होगा….तो यह साफ है कि ग्राहक अब बैंकों की ओर से वसूले जाने वाले चार्जेस ही चुकाएंगे….. ऐसे में RTGS और NEFT करना सस्ता हो जाएगा….

वहीँ RBI की ओर से एटीएम ट्रांजेक्‍शन चार्ज को लेकर भी बड़े फैसले लेने के संकेत दिए गए हैं… सेंट्रल बैंक ने बैठक में एक समिति का गठन करने का निर्णय लिया है…. इस समिति के जरिए ATM शुल्क से जुड़े मामलों की समीक्षा की जाएगी….. यह समिति अपनी पहली बैठक के दो महीने के भीतर अपनी सिफारिशें आरबीआई को बताएगी….

इन सब तौफों के बाद सरकार द्वारा एक झटका दिया गया है आम लोगों को वो यह है कि सरकार ने वाहन INSURANCE महंगा कर दिया है…कार और दोपहिया वाहनों का थर्ड पार्टी इंश्योरेंस 6 जून से महंगा हो जाएगा…. Insurance Regulatory and Development Authority ने वाहनों की कुछ श्रेणियों के लिए अनिवार्य थर्ड पार्टी इंश्योरेंस प्रीमियम में 21 फीसदी तक की बढ़ोतरी की है… सामान्य तौर पर, थर्ड पार्टी इंश्योरेंस प्रीमियम की दरों को एक अप्रैल से संशोधित किया जाता है….. हालांकि, 2019-20 के लिए नई दरें 16 जून से लागू होगी…..